RAIN-BARISH HAPPY SHAYARI IN HINDI [ProShayari.com]

New Barish Shayari in Hindi: Looking Best Rain Shayari, We are providing Large Collection of Latest Shayari on Rain. I hope you liked this Barish Shayari collection. ‘Shayari is a form of poetry, that allows a person to express his deep feelings from bottom of the heart through words. Each couplet of a Ghazal is known as Sher, which forms a Shayari.’ You will get all the Latest and updated collection of Best Shayari for Barish. Choose your favorite Rain Shayari and share. You would just like these Shayari once you read all through this. So Friends, Share this Stylish Barish Shayari on Facebook and Whatsapp.

इस बारिश के मौसम में अजीब सी कशिश है,
न चाहते हुए भी कोई शिद्दत से याद आता है!


Rahne Do Ab K Tum Bhi Mujhe Padh Na Sakoge.
Barsaat Me Kagaz Ki TarahBheeg Gaya Hun Main


उनकी यादों की बूँदें बरसी जो फिर से,
जिन्दगी की मिट्टी महकने लगी है। ☔


नसीब की बारिश कुछ इस तरह से होती रही मुझ पे…

ख्वाहिशे सुखती रही और पलके भीगती रही


कैसी बीती रात किसी से मत कहना,
सपनो वाली बात किसी से मत कहना,
कैसे उठे बादल और कहां जाकर टकराए,
कैसी हुई बरसात किसी से मत कहना! ? ?


अगर मेरी चाहतो के मुताबिक जमाने में हर बात होती !

तो बस मै होता तुम होती और सारी रात बरसात होती !!

 

  1. Barish SMS
  2. DOsti Shayari
  3. Friendship Day

कितनी जल्दी ज़िन्दगी गुज़र जाती है,
प्यास भुझ्ती नहीं बरसात चली जाती है,
तेरी याद कुछ इस तरह आती है,
नींद आती नहीं मगर रात गुज़र जाती है।


हमारे शहर आ जाओ सदा बरसात रहती है ……

कभी बादल बरसते है…कभी आँखे बरसती है …!!


कल उसकी याद पूरी रात आती रही,
हम जागे पूरी दुनिया सोती रही,
आसमान में बिजली पूरी रात होती रही,
बस एक बारिश थी जो मेरे साथ रोती रही! ?


कहीं फिसल ही न जाऊँ तेरी याद में चलते-चलते !
रोक अपनी यादों को मेरे शहर में बारिश का समाँ है !!


खुश नसीब होते हैं बादल,
जो दूर रहकर भी ज़मीन पर बरसते हैं,
और एक बदनसीब हम हैं,
जो एक ही दुनिया में रहकर भी.. मिलने को तरसते हैं.


ए बारिश बरस.. बरस… और बरस !

आज तू उसकी यादों को बहा लेजा !!


पहले रिम-झिम फिर बरसात और अचानक कडी धूप,
मोहब्बत ओर अगस्त की फितरत एक सी है! ⛈


किस मुँह से इल्ज़ाम लगाएं बारिश की बौछारों पर,
हमने ख़ुद तस्वीर बनाई थी मिट्टी की दीवारों पर!


बारिश और महोबत दोनों ही यादगार होते हे,
बारिश में जिस्म भीगता हैं और महोबत मैं आँखे! ?


मौसम है बारिश का और याद तुम्हारी आती है,
बारिश के हर कतरे से आवाज़ तुम्हारी आती है,
बादल जब गरजते हैं, दिल की धड़कन बढ़ जाती है,
दिल की हर इक धड़कन से आवाज़ तुम्हारी आती है,
जब तेज हवायें चलती हैं तो जान हमारी जाती है,
मौसम है कातिल बारिश का और याद तुम्हारी आती है|


Ye Baarishon K Mausam
Bas Tum Hi Se Hyn Wabasta
K Mohabbaton Main Baarish
Bari Lazmi Si Shey Hy
Chahey Aasman Se Barsey
Chahey Chashm-e-Nam Se


Barish Ka Ye Mousam Koch Yaad Dilata Hai,
Kisi Kay Saath Honay Ka Ehsaas Dilata Hai,


Fiza Bhi Sard Hai Yaadain Bhi Taaza Hai,
Ye Mousam Kisi Ka Pyaar Dil May Jagata Hai,


Bheegi Hoye Raatain Khamosh Si Baatain,
Aisay Main Koch Kaho Tu Her Lafz Madhem Ho Jata Hai,


Barsat Ki Hain Bondain, Bondon May Hai Khushbo,
Ye Lumha Tu Dil Ka Ehsaas Chuu Jata Hai,


Aisay Main Tum Bhi Keh Do Dil Ki Baat,
Ye Mousam Tu Pal Bhar Main Beet Jata Ha.


अगर भीगने का इतना ही शोक है बारिश में,
तो देखो न मेरी आखों में,
बारिश तो हर इक के लिए होती है,
लेकिन ये आखे सिर्फ तुम्हारे लिए बरसती हैं! ?


खुद भी रोता है,
मुझे भी रुला के जाता है,
ये बारिश का मौसम,
उसकी याद दिला के जाता है।


आज भीगी है पलके किसी की याद में
आकाश भी सिमट गया हैं अपने आप में
ओस की बूँद ऐसी गिरी है ज़मीन पर
मानो चाँद भी रोया हो उनकी याद में!


आज मौसम कितना खुश गंवार हो गया,
खत्म सभी का इंतज़ार हो गया,
बारिश की बूंदे गिरी कुछ इस तरह से,
लगा जैसे आसमान को ज़मीन से प्यार हो गया! ⛈


बादलों से कह दो,
जरा सोच समझ के बरसे,
अगर हमें उसकी याद आ गई,
तो मुकाबला बराबरी का होगा! ⛈


? ऐ बारिश मेरे अपनो को यह पैगाम देना ?
? खुशियों का दिन हँसी की शाम देना, ?
? जब कोई पढे प्यार से मेरे इस पैगाम को, ?
? तो उन को चेहरे पर प्यारी सी मुस्कान देना.. ?
बारिश की बधाई हो दोस्तों


रिमझिम तो है मगर सावन गायब है,
बच्चे तो हैं मगर बचपन गायब है..!!
क्या हो गयी है तासीर ज़माने की यारों
अपने तो हैं मगर अपनापन गायब है !


Aye barish zara tham ke baras,
Jab mera yaar aa jaye to jam ke baras,
Pehle na baras ki woh aa na sake,
Phir itna baras ki woh ja na sake.


Dharti se sawan ki bundein milne jab bhi aati hain,
Uski shikayat karti hain kuchh apna dard sunati hain.
Kuchh rishte naye banati ehsaas naya de jati hain,
Har ek kali ko phool baag ko gulshan kar jati hain.
Chahat nayi si hoti hai armaan naya de jati hain,
Kuchh khushi ke pal kuchh muskan nayi de jati hain.


Barsat ki bheegi raaton mein fir koi suhani yaad aayi,
Kuchh apna jamana yaad aaya kuchh unki jawani yaad aayi,
Hum bhool chuke the jisne hamein duniya mein akela chhor diya,
Jab gaur kiya to ek surat jaani pehchani yaad aayi.


Khayalon mein wahi, sapno mein wahi,
Lekin unki yaadon mein hum the hi nahi,
Hum jaagte rahe duniya soti rahi,
Ek baarish hi thi, jo humare sath roti rahi.


Aaj barish main tere sang nahana hai,
Sapna yeh mara sadioon purana hai..
Barish ka qatra jo tujh par gire..
Us qatre ko apne hantoon se lagana hai.


Tumko barish pasand hai… mujhe barish me TUM,
Tumko hasna pasand hai… mujhe hastey hue TUM,
Tumko bolna pasand hai… mujhe boltey hue TUM,
Tumko sab kuch pasand hai.. aur mujhe bas TUM


Ae barish zara thamke baras,
Jab mere yaar aa jaye to jamke baras,
Pehle na baras ki woh aa na sake,
Phir itna baras ki wo jaa na sake


Happy Rainy Day
Dua Hai Barish Ke Jitne Qatre Girain
Utni Hi Apko Khusyan mile.


Na wo mausam rahe,
na wo numaishe,
na wo ghata rahi,
na wo khawahishe,
lamho ki barish ne aisa bhigoya hai hame,
ki na wo sawan rahe, na wo barishe.


Lo aaj Phir Ronay Laga hai Asmaan,
Ban ke Barish ..
Shayad Aaj us ko Phir
Ehsas Hua Hai Meri Tanhai ka!


Mausam hai barish ka aur yad tmhari aati hai,
Barish k har aik katre se aawaz tmhari aati hai,
Badal jab garajte hain dil ki dharkan barhti hai,
Aur dil ki har ek dharkan se aawaz tumhari aati hai,
jab taiz hawaein chalti hain to jaan humari jati hai,
Mausam hy barish ka aur yaad tumhari aati hai.


Har Haseen Mousam Ki
Har Haseen Barish Main
Dard Tum Jagati Ho
Bewajah Sataati Ho
Mousamoon K Lutf Ko
Tum Dard Main Bahaati Ho
Zindagi Ke Naam Say
Tum Gee Mera Jalaati Ho
Lutf K Sab He Lamhay
Yaad Main Ganwaati Ho
Har Haseen Mousam Ki
Har Haseen Barish Main
Tum Kion Itna Yaad Aati Ho ..??


Leave a Reply

avatar
  Subscribe  
Notify of